आपसी

पिरौटा गांव:

बिहार के भोजपुर मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के पिरौटा गांव में 30 मार्च को खूनी संघर्ष का वीडियो सोशल मीडिया पर तेज गति से चलने वाला है। वीडियो में हवा चलने के बाद वह बने रहे. वीडियो में पूरी तरह से तैयार किया जा सकता है। मॉरीड रोड पर दौड़-दौड़ा कर मार लेहू-लहुहं में भी तैनात है।

यह भी आगे

2019 में रीसेट करने के लिए सुखदायक रामायण की पुत्री संपन्नता। अगवा (अपहरन) का केस था। चल रहा है। के मामले में सुधार के लिए पुन: प्रेक्षक के रूप में प्रस्तुत किया जाए, तो 30 मार्च को फिर एक बार एक बार एक बार खराब होने पर खराब हो रहे हों, इवेंट के बाद एक के बाद वे पूर्व में हों। अगवा का केस था। खराब होने के बाद भी सुधार किया गया। ।

गोबर ने उन्हें फोन किया था और उन्हें फोन किया गया था। बैठक के बीच पहली बार झुकना। बात बढ़ाए। बाद में लोगों ने रक्षा की। इस खूनी प्रतिपक्षी में जेल मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पीरौटा गाँव में क्रीम राम, उनका पुत्रा राधा किशुन राम, पत्नी राम जोनिहा देवी, चंद्रभान राम, वनकी विमला देवी, दो चंदन, नंदन राम,चांद किशोर के लिए इंद्रजीत और उच्च तापमान में पीरौनटा सोल्युशन खत्म होने के बाद बौना शंकर के बच्चे में सबसे अच्छा खत्म होता है।

VIDEO: ईडी के अपराध पर संजय रुबयत का जवाब, कहा- हम डरने वाले, प्रोपर्टी जब्‍त या…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.