नवरात्रि 2022 शुभ योग: ज्योतिष शास्त्र के आकार का गुरु शनि ग्रह चरण में इस प्रकार है।

नवरात्रि 2022 राजयोग: ज्योतिष के हिसाब से सही राशि का निर्धारण करने वाले सभी राशियों पर लागू होते हैं। ज्योतिषीय गणना के हिसाब से 24 घंटे उलट-फेर होने वाला है। वैद्युत ग्रह देवगुरु बृहस्पति और कर्म फल दाता शनि वक्री अवस्था में इस घटना में। जुड़वां कन्या राशि पहले से ही सूर्य-बुध की योति से बुधादित्य बना है। इस तरह 24 प्रश्नवाचक शुक्र के गोचर से दृश्य होंगे। साथ ही भद्रा और बन्न्स 2 अन्य राजयोग भी। मिथुन राशि राशि में ही सूर्य, बुध और शुक्र का त्रिवेक योग भी। ऐसे में योग का प्रभाव 5 राशियों के लिए शुभ होता है।

यह भी आगे

मिनट

माया के योति योग से इस चक्रव्यूह राजयोग का निर्माण हो रहा है। आँकड़ों की जानकारी के लिए यह हंस राजयोग इस राशि के लोगों के लिए शुभ हो सकता है। आर्थिक विकास होगा। बड़े पैमाने पर मिल रहा है। शौक्षिक में सुधार होगा।

मीन

ज्योतिष के अनुसार राशिफल शनि ग्रह पर स्थित हैं। इस समीकरण के साथ भद्रा और ही राजभंग योग का निर्माण हो रहा है। ये अराजक क्रिया में सहायक सिद्ध होती है। बेहतर पर काम का छोटा-सा। असफलता में वृद्धि हो सकती है। अर्थव्यवस्था को भी लाभ होगा।

वृषभ

योग के शुभ योग में शामिल होने के लिए। इस समय में व्यापार होगा। कामकाज में. पैसा वापस लौटा। आकस्मिक धन लाभ हो सकता है।

कन्या

कन्या राशि के लिए योग का शुभ योगाभ्यास। जीवन में सुधार लाने के लिए. किसी विशेष मित्र से लाभ हो सकता है। आभासी शुक्र राशि में गोचर। व्यापम से इस राशि में राजभंग राज योग। ऐसे समय में रुके हुए भी काम करेंगे।

धनु

शुक्र के गोचर के इस राशि में हंस, भद्र और भगभंग 3 राजयोग बनेंगे। ये 3 राजयोग की दृष्टि से शुभ और मंगल ग्रह की दृष्टि से. व्यापार यात्रा से विशेष लाभ. घर में ब्लीच का कनेक्शन.

(अस्वीकरण: यहां .



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.